Home » Hindi Diwas  2022 :हर साल 14 सितम्बर को ही क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस,जाने इतिहास

Hindi Diwas  2022 :हर साल 14 सितम्बर को ही क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस,जाने इतिहास

Hindi Diwas  2022, हर साल 14 सितम्बर को ही क्यों मनाया जाता है हिंदी दिवस,जाने इतिहास

Hindi Diwas  2022: हिंदी दिवस हर साल 14 सितम्बर को ही मनाया जाता है। जिससे की लोगो में हिंदी भाषा के प्रति उत्साह भरा जा सके और हिंदी भाषा को भी बढ़ावा मिल सके।

Hindi Diwas  2022:

हिंदी दिवस हर साल 14 सितम्बर को मनाया जाता है ।यह दिन इसलिए महत्व रखता है की इस दिन  1949  में संविधान सभा ने हिंदी को एक आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया था। इसकी तारीख  को स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधान मंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने चुना था। हिंदी एक फारसी शब्द है फारसी में हिंदी शब्द का अर्थ सिंधु नदी की भूमि है । हिंदी भाषा दुनिया में  मैंडेरिन,स्पेनिश,और अंग्रेजी के बाद चौथी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है।

संक्षिप्त इतिहास Hindi Diwas

महात्मा गाँधी ने साल 1918 में एक हिंदी साहित्य सम्मलेन में हिंदी को राष्ट्र भाषा बनाने को  कहा था। इसे गाँधी जी जनमानस की भाषा भी कहते थे। इसके बाद जब वर्ष 1947 को देश आज़ाद हुआ तो देश में राजभाषा के चुनाव पर सवाल खड़ा हुआ ।14  सितम्बर 1949  को विचार विमर्श के बाद संविधान सभा में हिंदी को राजभाषा घोषित कर दिया गया ।

भारतीय संविधान के भाग 17  के अनुच्छेद 343 (1 )में इसका वर्णन है। यह निर्णय 14 सितम्बर को लिया गया था संयोगवश इसी दिन हिंदी के महान साहित्यकार  राजेंद्र सिंह का पचासवां  जन्मदिन भी था। इसलिए 14 सितम्बर को हर साल हिंदी दिवस के रूप में मनाने  का निर्णय लिया गया। आपको बता दे की पहला हिंदी दिवस 14  सितम्बर 1953 को मनाया गया था। हिंदी को विशेष दर्जा दिलाने में मैथलीशरण गुप्त ,हज़ारीप्रसाद द्विवेदी,काका कालेलकर की अहम् भूमिका रही।

हिंदी दिवस का महत्व

हिंदी के प्रचार -प्रसार को बढ़ावा देने के लिए हिंदी दिवस ब्यापक रूप से मनाया जाता है साथ ही यह दिन हिंदी के महत्व को बतलाता है। आपको बता दे की हिंदी देश के लगभग 77 %लोग बोलचाल में प्रयोग करते हैं यह रोजगार का साधन भी है। ऐसे में देश की राष्ट्रभाषा के लिए कोई दिन समर्पण करना ,अपनी भाषा के प्रति लोगों का प्रेम दर्शाता है।

इस से रिलेटेड आप की राय या सुझाव आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से हम तक(Team Loktantranow) पंहुचा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.