Home » Presidential Election of India 2022: द्रौपदी मुर्मू की जीत लगभग सुनिश्चित, मोदी जी के कदम से विपक्ष हैरान

Presidential Election of India 2022: द्रौपदी मुर्मू की जीत लगभग सुनिश्चित, मोदी जी के कदम से विपक्ष हैरान

Presidential Election of India 2022

Presidential Election of India 2022: 2022 का राष्ट्रपति चुनाव भारत के 16वें राष्ट्रपति के लिए होगा ।भारत के संविधान के आर्टीकल 56(1) में प्रावधान है कि भारत का राष्ट्रपति पाँच वर्ष की अवधि के लिये पद पर बना रहेगा ।राष्ट्रपति चुनाव के लिए नामांकन की अन्तिम तिथि 29 जून को थी ।

Presidential election of India 2022 candidate brief introduction: द्रौपदी मुर्मू Vs यशवंत सिन्हा

द्रौपदी मुर्मू:-द्रौपदी मुर्मू जी का जन्म 20 जून 1958 को उड़ीसा के मयूरभंज जिले के बैदापोशी गांव में एक संथाल परिवार में हुआ था ।आपने एक टीचर के रुप में अपना ब्यावसाइक जीवन का शुभारंभ किया व उसके बाद राजनीति मे आई।

NDA ने इन्हें राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया है ।इससे पहले आप 2015 से 2021 तक झारखण्ड की राज्यपाल थी । द्रौपदी मुर्मू जी ने 24 जून 2022 को अपना नामांकन कराया जिसमें पीएम मोदी प्रस्तावक व राजनाथ सिंह अनुमोदक बने।

द्रौपदी मुर्मू को एनडीए का राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार चुने जाने में पीएम मोदी का योगदान है। महिला होने के साथ ही द्रौपदी मुर्मू जी एक आदिवासी नेता भी है इसलिए विपक्ष हैरान है क्योंकि अगर वे उनका समर्थन नहीं करेंगे तो एक संदेश जाएगा कि वे महिलाओं और आदिवासी लोगों का उत्थान नहीं चाहते हैं

यशवंत सिन्हा:-यशवंत सिन्हा जी का जन्म 6 नवंबर 1937,पटना (बिहार) में हुआ।आपने 1958 में राजनीति शास्त्र में अपनी मास्टर्स डिग्री प्राप्त की व उसके बाद 1960 तक पटना विश्वविधालय में इसी विषय की शिक्षा दी ।उसके बाद आप भारतीय प्रशासनिक सेवा में चयनित हुए।उसके बाद आपने कई पदों पर अपनी सेवाएं दी।


आप एक भारतीय राजनीतिज्ञ,भारतीय जनता पार्टी के पूर्व वरिष्ठ नेता,व तृणमूल कांग्रेस के नेता रहे ।आप भारत के पूर्व वित्त मंत्री भी रह चुके हैं ।विपक्ष (UPA)ने 2022 के राष्ट्रपति चुनाव के लिये आपको उम्मीदवार बनाया है।

Election and Result Date

भारत में 18 जुलाई को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव होगा ।देश की जनता के द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधि इस चुनाव में भाग लेते हैं ।राष्ट्रपति पद के लिए परिणाम 21 जुलाई को घोषित होँगे व 25 जुलाई को निर्वाचित राष्ट्रपति शपथ लेंगे ।

बताया जा रहा है की संसद 23 जुलाई को निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को विदाई समारोह आयोजित करेगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.